Type Here to Get Search Results !

Save Environment Essay in Hindi : पर्यावरण बचाओ निबंध हिंदी में

Save Environment Essay in Hindi : पर्यावरण बचाओ निबंध हिंदी में

 पर्यावरण बचाओ निबंध हिंदी में : पर्यावरण उस प्राकृतिक परिवेश और परिस्थितियों को संदर्भित करता है जिसमें हम रहते हैं। दुर्भाग्य से, यह वातावरण गंभीर खतरे में है। यह खतरा लगभग पूरी तरह से मानवीय गतिविधियों के कारण है। इन मानवीय गतिविधियों ने निश्चित रूप से पर्यावरण को गंभीर नुकसान पहुंचाया है। सबसे विशेष रूप से, यह नुकसान पृथ्वी पर जीवन के अस्तित्व के लिए खतरा है। इसलिए पर्यावरण को बचाने की जरूरत है।

पर्यावरण बचाओ निबंध हिंदी में : Save Environment Essay in Hindi

पर्यावरण याने वातावरण है। पर्यावरण में संतुलन होना चाहिए। नहीं तो कई हानियां होती है। पशु, पक्षी और सब मनुष्य हवा में से ऑक्सीजन लेते हैं और कार्बन डाई ऑक्साइड छोड़ते हैं। यह इसी रूप में पर्यावरण में फैलता है। पेड़ पौधे की सहायता से पर्यावरण संतुलन हो जाता है।

पर्यावरण के असंतुलन से मौसम समय पर नहीं आता और वर्षा नियमित रूप से नहीं होते। वर्षा हुई भी तो कहीं अतिवृष्टि और कहीं अल्पवृष्टि होती है।

पर्यावरण के प्रदूषण को रोकने में हम सब सहयोग दे सकते हैं। सबसे पहले तो हम गंदगी न फलाएं। अपने आसपास की नालियां को साफ रखें। कूड़ा कचरा जहां तहां न फेंके। जंगल के वृक्ष न काटे। हमारे यहां पेड़ लगाना पुण्य कार्य माना जाता है। 

पर्यावरण की रक्षा के उपाय

 सबसे पहले वृक्षारोपण पर बहुत अधिक ध्यान देना चाहिए। अखिरकार, एक पेड़ ऑक्सीजन का स्रोत है। दुर्भाग्य से, निर्माण के कारण, कई पेड़ काट दिए गए। यह निश्चित रूप से वातावरण में ऑक्सीजन की मात्रा को कम करता है। पेड़ उगाने का मतलब है ज्यादा ऑक्सीजन का उत्पादन क्षमता को बढ़ाना। इसलिए, अधिक पेड़ लगाने का अर्थ है जीवन की बेहतर गुणवत्ता को बढ़ाना।

 इसी तरह लोगों को वन संरक्षण पर ध्यान देना चाहिए। वन पर्यावरण के लिए महत्वपूर्ण हैं। हालांकि, वनों की कटाई निश्चित रूप से दुनिया भर में जंगलों के क्षेत्र को कम करती है। सरकार को वनों की सुरक्षा के लिए कार्यक्रम करने चाहिए। सरकार को वनों के विनाश को एक आपराधिक अपराध बनाना चाहिए।

पर्यावरण की रक्षा के लिए मृदा संरक्षण (Soil conservation) एक और महत्वपूर्ण तरीका है। इसके लिए भूस्खलन, बाढ़ और मिट्टी के कटाव को नियंत्रित किया जाना चाहिए। इसके अलावा, मिट्टी के संरक्षण के लिए वृक्षारोपण और पेड़ों का संरक्षण  करना चाहिए। इसके अलावा, छत पर खेती और प्राकृतिक उर्वरकों का उपयोग कुछ अन्य तरीके हैं।

 अपशिष्ट प्रबंधन (Waste management) पर्यावरण की रक्षा का एक शक्तिशाली तरीका है। कचरे का सही तरीके से निस्तारण करें। अनिवार्य रूप से, यह पर्यावरण को स्वस्थ रखने में मदद करता है। सरकार को सड़कों और अन्य प्रदूषित क्षेत्रों की सफाई करनी चाहिए। साथ ही हर घर में शौचालय होना चाहिए। साथ ही, सरकार को पर्याप्त सार्वजनिक शौचालय उपलब्ध कराने चाहिए।

प्रदूषण (Pollution) शायद पर्यावरण के लिए सबसे बड़ा खतरा है। धुआं, धूल और हानिकारक गैसें वायु प्रदूषण (Air Pollution) का कारण बनती हैं। वायु प्रदूषण के ये कारण ज्यादातर उद्योगों और वाहनों से आते हैं। इसके अलावा, रसायन और कीटनाशक भूमि और जल प्रदूषण का कारण बनते हैं।

 पर्यावरण बचाने के फायदे

 सबसे पहले, वैश्विक जलवायु सामान्य है। पर्यावरण को नुकसान पहुंचाना और प्रदूषण पैदा करना ग्लोबल वार्मिंग का कारण बना है। इससे कई लोगों और जानवरों की मौत हो गई। इसलिए पर्यावरण की रक्षा करने से ग्लोबल वार्मिंग कम होगी।

 लोगों के स्वास्थ्य में सुधार होगा। प्रदूषण और वनों की कटाई के कारण कई लोगों का स्वास्थ्य बिगड़ रहा है। पर्यावरण की रक्षा करने से लोगों के स्वास्थ्य में सुधार होता है। सबसे खास बात यह है कि पर्यावरण की रक्षा करने से कई बीमारियों को कम किया जा सकता है।

अगर हम पर्यावरण को बचाएंगे तो हम निश्चित रूप से जानवरों को भी बचाएंगे। पर्यावरण की रक्षा से कई प्रजातियों के विलुप्त होने को रोका जा सकेगा। कई लुप्तप्राय प्रजातियां भी आबादी में वृद्धि करती हैं।

 जल स्तर बढ़ जाता है। पर्यावरणीय क्षति के कारण भूजल स्तर में भारी गिरावट आई है। इसके अलावा, दुनिया भर में स्वच्छ पेयजल की कमी है। इससे कई लोग बीमार होकर मर रहे हैं। पर्यावरण की रक्षा निश्चित रूप से ऐसी समस्याओं को रोक सकती है।

 अंत में, पर्यावरण हमारा रक्षा कवच है। हमारे स्वास्थ जीवन का आधार साफ सुथरा पर्यावरण ही है। पर्यावरण इस ग्रह पर एक अनमोल उपहार है। हमारा पर्यावरण बड़े खतरे का सामना कर रहा है। पर्यावरण की रक्षा आज की जरूरत है। शायद, यही इस समय मानवता की सबसे बड़ी चिंता है। इस संबंध में कोई भी देरी विनाशकारी हो सकती है।

ये भी पढ़ें; World Sparrow Day 2022: जानिए विश्व गौरैया दिवस 2022 का उद्देश्य, इतिहास और महत्व

पर्यावरण संरक्षण पर निबंध, पर्यावरण स्वास्थ्य पर निबंध, पर्यावरण दिवस निबंध, जून 5 पर्यावरण दिवस, पर्यावरण प्रदूषण से क्या हानि है?, पर्यावरण से क्या लाभ है?, पर्यावरण का क्या अर्थ है?, पर्यावरण प्रदूषण पर निबंध कैसे लिखें?, पर्यावरण का क्या महत्व है?, हिंदी निबंध लेखन।

Essay on Environmental Health, Save Environment Essay in Hindi, Paryavaran essay in Hindi, Paryavaran par nibandh hindi, save Environment, save nature essay in Hindi...