Type Here to Get Search Results !

National Education Day 2023 : आज राष्ट्रीय शिक्षा दिवस, जानिए राष्ट्रीय शिक्षा दिवस का इतिहास और महत्व

National Education Day 2023 : जानिए राष्टीय शिक्षा दिवस का इतिहास और महत्व

Maulana Abul Kalam Azad Jayanti 2023 : राष्ट्रीय शिक्षा दिवस स्वतंत्र भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री, स्वतंत्र सेनानी, भारतरत्न मौलाना अबुल कलाम आज़ाद की जयंती 11 नवंबर को मनाया जाता है। मौलाना अबुल कलाम आजाद ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री के रूप में 15 अगस्त 1947 से 2 फरवरी 1958 तक सेवा की। आइए जानते हैं भारत में राष्ट्रीय शिक्षा दिवस मनाने का इतिहास और महत्व के बारे में। 

National Education Day 2023 - Maulana Abul Kalam Azad Birth Anniversary 2023 : National Education Day History and Significance - राष्ट्रीय शिक्षा दिवस का इतिहास और महत्व 

विवरण : 'राष्ट्रीय शिक्षा दिवस' स्वतंत्र भारत के प्रथम शिक्षामंत्री मौलाना अबुल कलाम आज़ाद की याद में राष्ट्रीय शिक्षा दिवस मनाया जाता है। भारत में शिक्षा के विकास में मौलाना आज़ाद की महत्त्वपूर्ण भूमिका थी।

देश : भारत

तिथि : 11 नवम्बर

शुरुआत : 11 नवम्बर, 2008

विशेष : मौलाना आज़ाद महिला शिक्षा के ख़ास हिमायती थे। उनकी पहल पर ही भारत में 1956 में 'यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन' (University Grants Commission - UGC) की स्थापना हुई थी।

अन्य जानकारी : मौलाना आज़ाद की अगुवाई में 1950 के शुरुआती दशक में 'संगीत नाटक अकादमी', 'साहित्य अकादमी' और 'ललित कला अकादमी' का गठन हुआ। इससे पहले वह 1950 में ही 'भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद' बना चुके थे।

Happy National Education Day Quotes 2023 : राष्ट्रीय शिक्षा दिवस पर शिक्षा से संबंधित महत्त्वपूर्ण विचार

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस का इतिहास : हर व्यक्ति के जीवन में शिक्षा का ज्ञान होना जरूरी है। इस दुनिया में सबसे शक्तिशाली साधन शिक्षा है। जिस प्रकार शिक्षा दी जाएगी उसी प्रकार व्यक्ति का व्यवहार होता है। इसलिए अच्छी शिक्षा का ज्ञान होना आवश्यक है। इसी उद्देश से मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने 11 नवंबर, 2008 से राष्ट्रीय स्तर पर शिक्षा दिवस मनाने का फैसला लिया। 11 नवंबर 2008 में पहली बार शिक्षा दिवस का उद्घाटन हुआ। 11 नवंबर मौलाना आज़ाद का जन्मदिन है, भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री, भावी पीढ़ियों को ध्यान में रखकर कई शिक्षण संस्थाओं की स्थापना करनेवाले महान शिक्षाविद मौलाना आज़ाद की याद में यह दिवस मनाया जाता है। मौलाना अबुल कलाम आज़ाद के निधन के बाद उन्हें 1992 में भारत का सर्वोच्च सम्मान भारतरत्न से सम्मानित किया गया।

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस 2022 की थीम : मौलाना अबुल आजाद का कहना है कि स्कूल प्रयोगशालाएं है क्योंकि देश के भावी नागरिकों को तैयार करती है। इसी उद्देश्य से मौलाना अबुल आजाद ने कई शिक्षण संस्थाओं की स्थापना की जिसमें 'संगीत नाटक अकादमी', 'साहित्य अकादमी' और 'ललित कला अकादमी' आदि। 2022 राष्टीय शिक्षा दिवस की थीम   "पाठ्यक्रम बदलना और शिक्षा को बदलना" है। शिक्षा मंत्रालय द्वारा हर साल एक नए थीम को लेकर अपना कार्य करती है।

Maulana Abul Kalam Azad Quotes and Thoughts : मौलाना अबुल कलाम आज़ाद के अनमोल वचन 

शिक्षा में मौलाना आज़ाद का योगदान : मौलाना अबुल कलाम आज़ाद (अबुल कलाम गुलाम मुहियुद्दीन) का जन्म 11 नवंबर 1888 में हुआ। स्वतंत्र भारत के पहले शिक्षा मंत्री बने (1947 से 1958)। मौलाना अबुल कलाम आज़ाद भारतीय स्वतंत्रता सेनानी ही नहीं कवि, लेखक और पत्रकार भी थे। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सबसे कम उम्र में अध्यक्ष बनने के साथ साथ खिलाफत आन्दोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। आजाद भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री बनने के बाद भावी नागरिकों को ध्यान में रखकर कई शिक्षण संस्थाओं की स्थापना की। यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (यूजीसी) की स्थापना भी मौलाना आज़ाद द्वारा की गई है। मौलाना अबुल कलाम आज़ाद अच्छे दार्शनिक और बहुभाषी भी थे उर्दू, बंगाली, फारसी, हिंदी, अरबी और अंग्रेजी का ज्ञान को हासिल कर चुके थे। 1957 में प्रकाशित 'इंडिया विंस फ्रीडम' (India Wins Freedom) भारत के स्वतंत्रता संग्राम पर मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ने किताब भी लिखी है।

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस का महत्त्व : भारत वासियों द्वारा शिक्षा दिवस पर राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले मौलाना अबुल आजाद की याद की जाती है। लोगों में शिक्षा के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए यह दिवस मनाया जाता है। राष्ट्रीय शिक्षा दिवस पर कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। राष्ट्रीय शिक्षा दिवस पर निबंध प्रतियोगिता, भाषण प्रतियोगिता, सेमिनार आदि का आयोजन होता है। अध्यापक और छात्र सभी इस कार्यक्रमों में शामिल होते हैं।

National Education Day Quotes and Sayings : राष्ट्रीय शिक्षा दिवस पर अनमोल विचार 

मौलाना अबुल कलाम आजाद उपलब्धियां (Maulana Azad Achievements) :

* मौलाना आजाद के जन्म दिवस पर, भारत सरकार द्वारा शिक्षा को देश में बढ़ावा देने के लिए 1989 में ‘मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन’ बनाया गया.

* मौलाना आजाद के जन्म दिवस पर 11 नवम्बर को हर साल ‘राष्ट्रीय शिक्षा दिवस’ मनाया जाता है.

* भारत के कई शिक्षा संस्थान, स्कूल और कॉलेजों के नाम को मौलाना आज़ाद के नाम पर रखे गए है।

* मौलाना अबुल कलाम आज़ाद द्वारा कई शिक्षण संस्थाओं की स्थापना हुई जिसमें केंद्रीय शिक्षा संस्थान दिल्ली, अभी दिल्ली विश्वविद्यालय का शिक्षा विभाग है। 1951 में पहला भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, IIT Kharagpur और 1953 में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC)।

* मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ने भारतीय विज्ञान संस्थान, आईआईएससी बैंगलोर (IISC Bangalore) और दिल्ली विश्वविद्यालय के फैकेल्टी के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

* मौलाना आजाद को सन् 1992 में भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया है।

National Education Day Whatsapp Status 2023 : Maulana Abul Kalam Jayanti Status

ये भी पढ़ें;

International Literacy Day 2023 : world literacy day whatsapp status

एपीजे अब्दुल कलाम के महान विचार - Abdul Kalam Quotes in Hindi

National Education Day 2023, National Education Day History and Significance, National Education Day Theme, Slogans 2023, importance of National Education Day 2023, Maulana Abul Kalam Azad Jayanti 2023, Maulana Abul Kalam Azad Birth Anniversary 2023, Maulana Abul Kalam Quotes, Maulana Abul Kalam Azad Biography in Hindi, National Education Day Wishes images, National Education Day Speech, Rastriya Shiksha Diwas 2023, Essay on National Education Day 2023..

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस 2023, राष्ट्रीय शिक्षा दिवस पर भाषण, क्यों मनाया जाता है भारत में राष्ट्रीय शिक्षा दिवस, राष्ट्रीय शिक्षा दिवस कब है?, मौलाना अबुल कलाम आज़ाद जयंती 2023, मौलाना अबुल कलाम आजाद जन्मदिन पर विशेष 2023, राष्ट्रीय शिक्षा दिवस पर भाषण, राष्ट्रीय शिक्षा दिवस पर निबंध, शिक्षा दिवस का इतिहास और महत्व, शिक्षा पर अनमोल वचन।