Raidas Ke Dohe : संत रविदास जी के 10 प्रसिद्ध दोहे अर्थ सहित

0

Sant Ravidas Amritwani : Sant Guru Ravidas Ke Dohe in Hindi 

माघ पूर्णिमा (Magha Purnima) के दिन संत गुरु रविदास की जयंती (Sant Guru Ravidas Jayanti) देशभर में धूमधाम के साथ मनाई जाती है। इस साल 5 फरवरी को रविदास जयंती (Ravidas Birth Anniversary) है। उनका जन्म वाराणसी (Varanasi) के पास एक गांव में हुआ था। उन्हें संत रैदास भी कहा जाता है। वह 15वीं सदी के महान समाज सुधारक, दार्शनिक कवि (भक्तिकाल) और ईश्वर के अनुयायी थे। उन्होंने दुनिया को भेदभाव से ऊपर उठकर समाज को प्रेम और एकता की सीख दी। उनके दोहे (Raidas Ke Dohe) में समाज की कुरीतियों पर गहरी चोट करते हैं। साथ ही उनकी रचना में भगवान के प्रति अगाध प्रेम झलकता है। आईए रविदास जंयती के मौके पर सुनते हैं उनके कुछ प्रचलित दोहे...

Raidas Ke Dohe : संत रविदास जी के 10 प्रसिद्ध दोहे अर्थ सहित

ये भी पढ़ें; संत रविदास जयंती 2023 : पढ़िए उनके दोहे जो आज भी सीख देते हैं और जानें कब है रविदास जयंती

संत रविदास के दोहे इन हिंदी, संत रविदास जी के दोहे अर्थ सहित, संत रविदास जी के अनमोल वचन, संत रैदास के दोहे हिंदी अर्थ सहित, हिंदी दोहे अर्थ सहित, हिंदी दोहे रैदास के, संत शिरोमणि रविदास जी के दोहे, रविदास जयंती, raidas ke dohe, sant ravidas jayant, sant guru ravidas jayant, hindi dohe, hindi dohe with meaning, best of ravidas, ravidas ke anmol vachan, anmol vichar...

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accept !) #days=(10)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top