Constitution Day 2023 : 26 नवंबर को ही क्यों मनाया जाता है संविधान दिवस?


   Constitution Day (संविधान दिवस) : 1949, नवंबर 26 को तैयार हुआ था भारत गणराज्य का संविधान। संविधान सभा के प्रारूप समिति के अध्यक्ष थे डॉ. भीमराव आंबेडकर (Dr. B. R. Ambedkar), डॉ. भीमराव आंबेडकर को भारत के संविधान का जनक कहा जाता है। आंबेडकर के 125वें जयंती वर्ष के रूप में 26 नवंबर 2015 को पहली बार भारत सरकार द्वारा संविधान दिवस सम्पूर्ण भारत में मनाया गया। 26 नवम्बर 2015 से प्रत्येक वर्ष सम्पूर्ण भारत में संविधान दिवस मनाया जा रहा है। इससे पहले इसे "राष्ट्रिय कानून दिवस" के रूप में मनाया जाता था। 2 वर्ष 11 माह 18 दिन में संविधान तैयार हुआ। संविधान सभा ने भारत के संविधान को 1949 नवम्बर 26 को राष्ट्र को समर्पित किया। गणतंत्र भारत में 26 जनवरी 1950 से संविधान लागू किया गया है।

आधिकारिक नाम : संविधान दिवस
अन्य नाम : भारत का कानून
अनुयायी : भारत
उद्देश्य : 1949 नवंबर, 26 को भारत ने संविधान को अपनाया
तिथि : 26 नवम्बर
आवृत्ति : वार्षिक
पहली बार : भारत सरकार द्वारा 2015 (नवंबर-26) में, दशकों पूर्व से ही आंबेडकरवादी लोगों द्वारा।
समान पर्व : भारतीय संविधान (Constitution of India)

क्यों मनाया जाता है संविधान दिवस.?

संविधान अपने नागरिकों की समानता, स्वतंत्रता और न्याय का आश्वासन देता है। देश के संविधान के बारे में नागरिकों के बीच जागरूकता फैलाने और संवैधानिक मूल्यों का प्रचार करने के लिए संविधान दिवस (नवंबर-26) मनाने का फैसला किया गया था। इस दिन भारत ने अपने संविधान को स्वीकार किया था।

FAQ :

1. संविधान दिवस पहली बार कब मनाया गया.?
A. डॉ. भीमराव आंबेडकर (Dr. B. R. Ambedkar) के 125वें जयंती वर्ष के रूप में 2015, नवंबर 26 को भारत सरकार द्वारा पहली बार संविधान दिवस (Constitution Day) संपूर्ण भारत में मनाया गया।

2. संविधान कितने लोगों ने मिलकर लिखा.?
A. 1950, जनवरीमें 26 भारत का संविधान (Constitution of India) लागू किया गया था। लगभग 284 लोग संविधान के निर्माण में शामिल थे।

3. भारत के संविधान का जनक.?
A. डॉ. भीमराव आंबेडकर (Dr. B. R. Ambedkar)

4. संविधान दिवस कब लागू हुआ था.?
संविधान सभा ने भारत के संविधान (Constitution of India) को 1949 नवम्बर 26 को राष्ट्र को समर्पित किया। गणतंत्र भारत में 26 जनवरी 1950 से संविधान लागू किया गया है।

5. संविधान सभा के प्रारूप समिति के अध्यक्ष.?
A. "डॉ. भीमराव आंबेडकर" (Dr. B. R. Ambedkar)

6. संविधान लिखने में कितने दिन लगे.?
A. संविधान को बनाने में 2 वर्ष 11 माह 18 दिन का समय लगा। भारतीय संविधान (Constitution of India) में 448 (अनुच्छेद), 12 (अनुसूचियां) शामिल हैं।

7. संविधान में कुल कितने पेज है.?
A. संविधान (Constitution) 251 पेज का "पांडुलिपि" में हैं, जिसका वजन 3.75 (कि.ग्रा) है।

8. विश्व में सबसे बड़ा संविधान किसका है.?
A. सबसे बड़ा "लिखित संविधान" विश्व में भारत का संविधान (Constitution of India) है।

9. सबसे पुराना संविधान विश्व का कौन सा है.?
A. सबसे पुराना संविधान सभी संविधानों के लिए मार्गदर्शक का काम देनेवाला "संविधानों की जननी” ब्रिटिश संविधान (British Constitution) को कहा जाता है।

10. "उधार का थैला" ऐसा भारतीय संविधान को क्यों कहते हैं.?
A.  एक व्यावहारिक और अच्छा संविधान बनाना था इसलिए उन्होंने संसार के सफल और प्रमुख संविधानों का गहन अध्ययन किया भारतीय परिस्थितियों के लिए लाभदायक तत्वों को बिना हिचक स्वीकार कर लिया। भारत के संविधान निर्माता जनता के समक्ष कोई मौलिक या अभूतपूर्व संविधान प्रस्तुत नहीं करना चाहते थे।

11. भारत (स्वतंत्र) के प्रथम कानून मंत्री (Law Minister).?
A. "डॉ. भीमराव आंबेडकर" (Dr. B. R. Ambedkar)

26-11-2023 संविधान दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं


ये भी पढ़े ;
Constitution Day 2023, Bharatiya Samvidhan Diwas 2023, Constitution Day History and Significance, Constitution Day Date and History, Samvidhan Divas 2023, Constitution Day of India, Celebrating Constitution Day of India, 26 November Constitution Day 2023, Samvidhan Diwas Poster, Constitution Day Status..
भारतीय संविधान दिवस 2023, संविधान दिवस का इतिहास और महत्व, संविधान दिवस कब मनाया जाता है, 26 नवंबर संविधान दिवस 2023, 26 नवंबर को ही क्यों मनाया जाता है संविधान दिवस, संविधान दिवस पर निबंध, संविधान दिवस पर भाषण।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने