Type Here to Get Search Results !

World Post Day 2022 : जानिए विश्व डाक दिवस का इतिहास और महत्व

World Post Day 2022 : जानिए विश्व डाक दिवस का इतिहास और महत्व

विश्व डाक दिवस 2022 : अंतरराष्ट्रीय डाक दिवस 2022 (international post day 2022) हर साल 9 अक्टूबर को विश्वभर में मनाया जाता है। यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन की ओर से विश्व में डाक सेवाओं का उपयोगिता को देखते हुए हर वर्ष 9 अक्टूबर को विश्व डाक दिवस मनाने की घोषणा हुई।

विश्व डाक दिवस की शुरुआत : विश्व डाक दिवस हर वर्ष यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन (universal postal union) की वर्षगांठ पर मनाया जाता है। यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन की स्थापना स्विट्जरलैंड में हुई थी। पहली बार विश्व डाक दिवस 9 अक्टूबर 1969 को मनाया गया। 1969 के बाद से दुनियाभर में हर साल 9 अक्टूबर को wolrd post day (international post day) मनाते आ रहे है। 9 अक्टूबर को पहली बार जापान के टोक्यो में 1969 यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन कांग्रेस में विश्व डाक दिवस (world post day) घोषित किया गया था। भारतीय प्रतिनिधिमंडल के सदस्य श्री. आनंद मोहन नरूला द्वारा यह प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया था। universal postal union की सदस्यता लेने वाला प्रथम एशियाई देश भारत ही था। तब से, डाक सेवाओं के महत्व को उजागर करने के लिए दुनिया भर में विश्व डाक दिवस (world post day) मनाया जाता है।

विश्व डाक दिवस का उद्देश्य : वैश्विक डाक संघ की ओर से डाक दिवस मानने का यह उद्देश्य है की डाक विभाग द्वारा ग्राहकों को लेकर डाक सेवाओं के बारे में जानकारी देना या उन्हें डाक सेवाओं के प्रति जागरूक करना विश्व डाक दिवस का उद्देश्य है। आज देखा जाए तो डाक की उपयोगिता केवल लोगों तक चिट्ठियों को पहुंचाना ही नहीं डाक विभाग या डाक की ओर से आज आम आदमी तक बैंकिंग, बीमा, निवेश जैसी जरूरी सेवाएं डाक घर से डाकिया द्वारा पहुंचाया जा रहा है। बढ़ती तकनीकी को ध्यान में रखते हुआ डाक सेवाओं में भी कई बदलाव आ चुके है जैसे ई-कॉमर्स और ऑनलाइन शॉपिंग। e-commerce और online shopping की सुविधा भी डाक सेवाओं के अंर्तगत आज हमे मिलने लगे है।

ये भी पढ़ें; डाकिया डाक लाया : खुशी का संदेश लाया

विश्व डाक दिवस का महत्व : आज दुनियाभर में 150 से भी अधिक देश डाक दिवस राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर मानते है (National Postal Day or World Postal Day)। विश्व डाक दिवस की इस अवसर पर कई नई सेवाओं का भी उद्घाटन किया जाता है। स्कॉटलैंड के सांक्हार में हाई स्ट्रीट के डाकघर को विश्व का पहला डाक घर माना जाता है जिसकी शुरुआत 1712 में हुई थी।

विश्व डाक दिवस 2022 थीम : विश्व डाक दिवस की थीम 'पोस्ट फॉर प्लेनेट' this year world post day theme is ‘Post for Planet, है। 2021 में देखा जाए तो विश्व डाक दिवस 2021 का थीम इनोवेशन टू रिकवर (Innovate to recover) है।

राष्ट्रीय डाक सप्ताह समारोह (National Postal Week) : भारत में विश्व डाक दिवस 9 अक्टूबर से लेकर 15 अक्टूबर तक राष्ट्रीय डाक सप्ताह समारोह आयोजित किया जाता है। National Postal Week के जरिए लोगों में डाक सेवाओं के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए अनेक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता हैं।

भारत में डाक दिवस (National Postal Day) : भारत में भी विश्व डाक दिवस मनाया जाता है, पहले जमाने में कबूतरों से डाक को पहुंचाया जाता था, चिट्ठी लिखकर कबूतरों या किसी व्यक्ति से भेजा जाता था, जवाब के लिए इंतजार करते हुए कई दिन या महीने लग जाते थे। धीरे धीरे डाक सेवाओं से लोगों तक अपना संदेश पहुंचाना आसान होते गया। आज डाक सेवाएं हर गांव, शहर में स्थित है। 1766 में लार्ड क्लाइव (Lord Clive or Robert Clive) ने भारत में पहली बार डाक व्यवस्था को शुरू किया था। वारेन हेस्टिंग्स (Warren Hastings) ने पहली बार कलकत्ता में 1774 को डाक घर की स्थापना की। पोस्टल स्टैंप्स (Postal Stamps) की शुरुआत 1852 को हुई थी। पोस्टल स्टैंप अलग अलग तरह होते है जिसे हम चिट्ठियों को भेजने के लिए चिट्ठी पर चिपकाया जाता है। भारत में पिन कोड (pincode) की शुरुआत 15 अगस्त 1972 को हुई थी। आज दुनिया में सबसे बड़ा डाक तंत्र (Indian postal network) भारत है। 21 नवंबर 1947 में भारत का पहला डाक टिकट जारी हुआ। भारत देश का सबसे बड़ा डाकघर General Post Office Mumbai है। वर्तमान में डाक विभाग भारत सरकार के सचिव श्री विनीत पांडे जी है।

विश्व डाक दिवस से जुड़ी रोचक जानकारी : Post Office Day History in Hindi विश्व में डाक व्यवस्था (Postal System) की शुरुआत करीब चार सौ साल पहले ही हो गई थी। ब्रिटेन में डाक विभाग की स्थापना 1516 में  हुई थी, रॉयल मेल के नाम से प्रसिद्ध है। इसका मुख्यालय राजधानी लंदन में है। 1576 में फ्रांस में डाक विभाग की शुरुआत 'ला पोस्ट' के नाम से की गई थी, जिसका मुख्यालय राजधानी पेरिस में है। जर्मन सरकार द्वारा 'ड्यूूश्च पोस्ट' नाम से 1600 में डाक सेवा की शुरुआत की गई, मुख्यालय बॉन में है। 1775 में अमेरिका में 'यूएस मेल' नाम से डाक विभाग की स्थापना हुई थी। 1882 में श्रीलंका 'श्रीलंका पोस्ट' के नाम से डाक विभाग की स्थापना हुई, मुख्यालय राजधानी कोलंबो में है। 1712 में खोला गया Sanquhar डाकघर, Sanquhar, Dumfries और Galloway डाकघर विश्व का सबसे पुराना डाक घर है।

Why is National Post Day celebrated?, Significance of Indian Postal Day, Indian postal network, What is the theme of World Postal Day 2022, Indian Postal Jobs, Postal Services, Postmaster, postman,  Which is the largest postal network in the world, National Postal Day 2022, International Postal Day 2022, World Postal Day 2022,

इस लेख में विश्व डाक दिवस क्यों मनाया जाता है?, विश्व डाक दिवस मानने का उद्देश्य क्या है, विश्व डाक दिवस का इतिहास और महत्त्व, विश्व डाक दिवस की शुरुआत, विश्व डाक दिवस से जुड़ी दिलचस्प बातें, विश्व डाक संघ के बारे में, ग्रामीण डाक विभाग, शहरी डाक विभाग, डाक विभाग नौकरी, डाकिया, विश्व डाक दिवस 2022 थीम, पहली पोस्ट ऑफिस की शुरुआत कब हुई थी, भारत में डाक विभाग की स्थापना किसने की है आदि जानकारी के बारे में बताया गया है।

ये भी पढ़ें; विश्व डाक दिवस 9 अक्टूबर पर लाल डिब्बे की आत्मकथा