Type Here to Get Search Results !

Chanakya Niti: आपका व्यवहार ऐसा होना चाहिए! दुश्मन भी टेक देगा आपके सामने घुटने

चाणक्य नीति: आपका व्यवहार ऐसा होना चाहिए! दुश्मन भी टेक देगा आपके सामने घुटने..

आचार्य चाणक्य द्वारा बताए गए ये प्रमुख बातों से  दुश्मन भी टेक देगा आपके सामने घुटने। शत्रु को कभी भी कमजोर नहीं समझना चाहिए। दुश्मनों को हराना है तो इन बातों को जरूर जान लें।

चाणक्य नीति का कहना है कि दुश्मन कितना भी शक्तिशाली क्यों न हो, हम अपने पास मौजूद ज्ञान और समझ से उसे हरा सकते हैं। किसी भी दुश्मन पर विचार किया जाना चाहिए। चाणक्य ने शत्रु को परास्त करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बातें कहीं।

सावधान रहिए : चाणक्य की नैतिकता के अनुसार, एक बार शत्रु की पहचान हो जाने के बाद, उसे हम पर हमला करने की मौका नहीं देनी चाहिए। यह जान लें कि दुश्मन हमेशा आपकी लापरवाही का फायदा उठाने की कोशिश कर रहा है। असंगति से सतर्क रहें। अगर हम दुश्मन के सामने आने वाली सभी स्थितियों में बहादुर हो सकते हैं तो वह दुश्मन हमें कोई नुकसान नहीं पहुंचाएगा।

तन और मन को मजबूत करें : चाणक्य नीति कहती है कि शत्रु को परास्त करने के लिए दो बातों का ध्यान रखना पड़ता है। आचार्य चाणक्य के अनुसार मनुष्य को अपने तन और मन को स्थिर रखना चाहिए। जब तक आप शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत नहीं होंगे तब तक दुश्मन आप पर हमला करने के लिए हर मौके का इस्तेमाल करेगा। इसे ध्यान में रखें और अच्छा शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य रखें। दिमाग को बेहतर रखने के लिए ज्ञान प्राप्त करें।

बुरी आदतों से दूर रहें : चाणक्य नीति कहती है कि मनुष्य की बुरी आदतें दुश्मनों को उस पर हमला करने का मौका देती हैं। चाणक्य ने सुझाव दिया कि शत्रु को परास्त करने के लिए क्रोध, अहंकार, लोभ आदि नहीं होना चाहिए। आचार्य चाणक्य ने यह भी कहा कि नशीली दवाओं का सेवन एक बुरी आदत है जो दुश्मनों को करीब लाती है। इसलिए चाणक्य ने कहा कि बुरे व्यसनों से दूर रहकर शत्रु को परास्त किया जा सकता है।

ये भी पढ़े; Chanakya Niti: सफलता की ओर ले जाने वाले छह सिद्धांत

VALUE OF TIME: What is value of time in our life?

Kabir Amritwani in Hindi: पोथी पढ़ि पढ़ि जग मुआ, पंडित भया न कोय