Type Here to Get Search Results !

Chanakya Niti: सफलता की ओर ले जाने वाले छह सिद्धांत

चाणक्य नीति: मित्र के रूप में छिपे दुश्मन को कैसे पहचाने? जब हालात अच्छे न हों तो..? सफलता की ओर ले जाने वाले छह सिद्धांत..

आचार्य चाणक्य का कहना है कि जो लोग जीवन में सफल होना चाहते हैं उन्हें कुछ सिद्धांतों का पालन करना चाहिए। आचार्य चाणक्य का सुझाव है कि सफलता पाने के लिए परिस्थितियों को समझना चाहिए और परिस्थितियों के अनुसार आगे बढ़ना चाहिए। कई लोग अभी भी चाणक्य नैतिकता का पालन करते हैं क्योंकि यह व्यावहारिक है। मनुष्य कड़ी मेहनत के बाद भी कुछ में ही सफल होता है। कुछ अन्य चीजें हैं जो विफलता का कारण बन सकती हैं। आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जीवन में इन छह बातों का अभ्यास अवश्य करना चाहिए ताकि ऐसी असफलताओं का सामना न करना पड़े। चलिए अब देखते हैं..

ये भी पढ़ें; Chanakya Niti: किसी भी समस्या का समाधान चुटकी में

समयबद्धता: चाणक्य नीति के अनुसार स्थिति को समझकर चलने वाला व्यक्ति सफल होगा। बुद्धिमान समझ पाएगा कि अभी कौन सा समय गुजर रहा है। खुशी के दिन होते हैं या दुख के दिन, खुशी के दिन होते हैं तो उनका लाभ उठाएं और विकास के कार्य करें। अगर वही दुखद दिन हैं तो धैर्य के साथ जागने की कोशिश करें और ऐसे काम करें जो विकास में योगदान दें।

मेरे पास क्या शक्ति है?: यह सबसे महत्वपूर्ण बात है। हमें किसी भी समय अपनी क्षमता का एहसास करने की जरूरत है। हमें यह जानने की जरूरत है कि हम प्रभावी ढंग से क्या कर सकते हैं। हमें पहले वह करना चाहिए जो हम कर सकते हैं। आचार्य चाणक्य का कहना है कि अगर हम अपने स्तर से परे काम करेंगे तो वह असफल हो जाएगा।

हमारे दोस्त कौन हैं?: हमारे सच्चे दोस्त कौन हैं? हमें यह समझने में सक्षम होना चाहिए कि हमारे सामने कौन अभिनय कर रहा है। दोस्तों के रूप में छिपे दुश्मन को ढूंढना जरूरी है। साथ ही आपको यह पहचानने में सक्षम होना चाहिए कि असली दोस्त कौन हैं। क्योंकि सच्चे दोस्तों की मदद से ही मनुष्य सफलता प्राप्त कर सकता है।

मुझे किसका समर्थन करना चाहिए ?: किसी भी संगठन में काम करते समय हमें वहां की जरूरतों को पहचानने की जरूरत होती है। साथ ही कंपनी के मालिक को यह एहसास होना चाहिए कि वह आपसे क्या चाहता है। ऐसे काम करने चाहिए जिससे संगठन को फायदा हो।

कार्यस्थल: हमारा कार्यस्थल कैसा है? वहां के हालात कैसे हैं? ऑफिस में काम करने वाले लोग कैसे हैं? इस बात का ध्यान रखना जरूरी है। परिणाम अधिक प्रभावी ढंग से काम करने का अवसर मिलता है।

हमारी आय और व्यय का विवरण: किसी को भी अपनी आय और व्यय के बारे में व्यापक रूप से जानने की जरूरत है। कमाई से ज्यादा खर्च करने वालों को परेशानी होती है। दौलत से मिलने वाली खुशियाँ ख़र्चों से कम नहीं होनी चाहिए।

ये भी पढ़ें; Positive Thanksgiving : सकारात्मक धन्यवाद!

Chanakya Niti: किसी भी समस्या का समाधान चुटकी में