Type Here to Get Search Results !

Gandhi Jayanti 2022 : महात्मा गांधी की जयंती पर जानिए बापू की जीवन से जुड़ी दिलचस्प बातें

Gandhi jayanti 2022 : महात्मा गांधी की जयंती पर जानिए बापू की जीवन से जुड़ी दिलचस्प बातें

Mahatma Gandhi Jayanti 2022 : महात्मा गांधी की जयंती पर जानिए बापू की जीवन से जुड़ी दिलचस्प बातें :

हर वर्ष 2 अक्टूबर को गांधी जयंती मनाई जाती है। देश के सुंदर सार्वजनिक उस्तावों में से महात्मा गांधी जयंती भी एक है। गांधीजी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शांति के प्रतीक माने जाते है। गांधीजी के जन्मदिन पर ही अहिंसा दिवस भी मनाया जाता है। सादा जीवन या सरलता, समर्पण के साथ जीवन कैसे जीना है ये हमें गांधीजी के जीवन से सीखना चाहिए।

2022 में अक्टूबर 2 को महात्मा गांधी की जन्मदिन तारीख, गांधीजी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ। गांधीजी का जन्मदिन पर पूरे देश हर्षोल्लास के साथ मनाया है। देश के सभी सरकारी कार्यालयों, स्कूल, कॉलेजों में गांधी जी के जन्मदिन पर कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। विश्व भर में गांधीजी अहिंसात्मक आंदोलन के लिए जाने जाते हैं।

ये भी पढ़ें: वर्तमान दौर में गांधी की प्रासंगिकता

देश की आजादी में गांधीजी का बहुत बड़ा योगदान रहा। मोहनदास करमचंद गांधी पूरा नाम है गांधीजी का। गांधीजी के जन्मदिन 2 अक्टूबर को विश्व अहिंसा दिवस भी मनाया जाता है। इस दिन पूरे देश में जगह जगह पर यानी स्कूल, कॉलेज।आदि सभी जगह पर बापू यानी महात्मा गांधी जी को याद करते है।

अहिंसा आंदोलन के मार्ग पर चलते महात्मा गांधी जी ने अंग्रेजों से देश को आजादी प्राप्त कराया है। देश के स्वतंत्रता के लिए लंबी लड़ाई लड़ने वाले गांधी जी खूब पढ़े लिखे भी है, उन्होंने लंदन में अपनी पढ़ाई पूरी की है। महात्मा गांधी की प्रयासों की वजह से आज हम अंग्रेजों से मुक्त होकर आजाद प्राप्त कर चुके है। 

ये भी पढ़ें; हिन्दी बाल काव्य में गाँधीजी

महात्मा गांधी ने अपने जीवन काल में कई राष्ट्रवादी आंदोलन कर चुके हैं जिसमें प्रमुख 6 प्रमुख आंदोलन है 1. चंपारण आंदोलन (1917), 2. खेड़ा आंदोलन (1918), 3. खिलाफत आंदोलन (1919), 4. असहयोग आंदोलन (1920), 5. भारत छोड़ो आंदोलन (1942), 6. सविनय अवज्ञा आंदोलन: दांडी मार्च और गांधी - इरविन समझौता इस तरह गांधीजी के नेतृत्व में ये प्रमुख आंदोलन हो चुके है। महात्मा गांधी का पहला आंदोलन चंपारण आंदोलन था और ये भारत का पहला नागरिक अवज्ञा आंदोलन था। महात्मा गांधी की अगुवाई में बिहार के चंपारण जिले में 1917 को शुरू हुआ था।

गांधी को राष्ट्रपित कहते हैं क्योंकि उन्होंने ही हमें अंग्रजों से लगातार आजादी की लड़ाई लड़ी और उनके नेतृत्व में ही हमें आजादी दिलाई थी। महिलाओं के अधिकारों का विस्तार करने, धार्मिक और जातीय सद्भाव बनाने और जाति व्यवस्था के अन्याय को खत्म करने, बुनियादी मानवाधिकारों और गरीबी को कम करने के लिए राष्ट्रव्यापी अभियान चलाए इस तरह गांधी ने दुनिया को भी बदला। रवींद्रनाथ टैगोर ने 6 मार्च 1915 को गांधी के लिए महात्मा उपाधि का इस्तेमाल किया था ऐसा कुछ लेखकों का कहना है।

ये भी पढ़ें; Salt March: 12 मार्च 1930 गांधी जी की दांडी यात्रा

दक्षिण अफ्रीका को गांधी जी 1893 गए थे। जब वे 24 साल के थे, 45 साल के अनुभवी वकील बनकर भारत लौटे चुके। महात्मा गांधी ने तो एक पुस्तक भी लिखी थी गोपाल कृष्ण गोखले मेरे राजनीतिक गुरु है।

महात्मा गांधी की पत्नी का नाम कस्तूरबा गांधी है, 2 बेटियां रानी और मनु, 3 बेटे कांतिलाल, रसिकलाल और शांतिलाल। 30 जनवरी 1948 : यह दिन इतिहास में सबसे दुखद दिनों में गिना जाता हैं। इस दिन यानी 30 जनवरी 1948 की शाम को नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी की जान ले ली।

ये भी पढ़ें; Gandhi Darshan: गांधी दर्शन (Gandhi Philosophy)

गांधी जयंती पर कई सारे कार्यक्रमों का आयोजन होता है, स्कूल, कॉलेजों में ही नहीं सभी सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों में गांधी जी श्रद्धांजली अर्पित कर उन्हें स्मरण करते हैं। आजकल गूगल पर कई सारे वेबसाइट है, सभी वेबसाइट पर गांधीजी पर लेख लिखे जाते हैं, साथ ही देश की सभी पत्र - पत्रिकाओं में महात्मा गांधी और आजादी आंदोलन को याद करते हुए लेख छापे जाते हैं। यूट्यूब पर कई सारे वीडियो भी गांधीजी के याद में बनाए जाते है, जैसे, गांधी जयंती पर विशेष कविता से संबंधित वीडियो, कविता पाठ, ऑनलाइन क्विज का भी आयोजन होता है।  गांधी जयंती पर विशेष कविता, पोस्टर, स्टेटस अपलोड किए जाते हैं। इस साल गांधी जयंती 2 अक्टूबर, रविवार 2022 को है। महात्मा गांधी 153 जयंती समारोह देश की सार्वजनिक त्योहार जैसा मानते है।

ये भी पढ़ें;

Inspiring Mahatma Gandhi Quotes : Mahatma Gandhi Quotes and Sayings

भारतीय राजनीति में गांधीजी का आगमन - Emergence of Gandhiji In Indian Politics

इस लेख में गांधी जयंती 2022 के बारे में बताया गया है, गांधी जयंती इस साल 2 अक्टूबर 2022 रविवार को है। गांधी जयंती विशेष रूप से देश के सभी जगहों पर मनाया जात है। महात्मा गांधी जयंती 2022, गांधी जयंती पर निबंध, गांधी जयंती पर भाषण, गांधी जयंती पर क्विज प्रतियोगिता, गांधी जयंती पोस्टर, गांधी जी के अनमोल विचार, गांधी जयंती 153 जयंती, गांधी जयंती पर 10 लाइन, गांधी जयंती पर स्लोगन, गांधी जयंती स्टेटस।

Mahatma Gandhi 153 Birth Anniversary, Gandhi Jayanti 2022, 2 October 2022 Sunday Gandhi Jayanti, Gandhi Jayanti History and Significance, Gandhi Jayanti poster making, Gandhi Jayanti 2022 theme, Gandhi Jayanti Slogans, Mahatma Gandhi Jayanti Whatsapp Status, Mahatma Gandhi Jayanti images, Mahatma Gandhi Jayanti Shorts, Bapu ji Jayanti poster, Bapu ji Jayanti 2022...