National Mathematics Day 2022 : जानिए रामानुजन की जयंती पर क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय गणित दिवस जानिए इतिहास और महत्व

National Mathematics Day 2022 : जानिए रामानुजन की जयंती पर क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय गणित दिवस जानिए इतिहास और महत्व 

National Mathematics Day 2022 : गणित क्षेत्र में योगदान के लिए महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन के जन्मदिन पर हर साल 22 दिसंबर को राष्ट्रीय गणित दिवस मनाया जाता है। Every year 22 December Ramanujan's birthday celebrated as National Mathematics day.. आइए जानते हैं राष्ट्रीय गणित दिवस का इतिहास और महत्व, जानते हैं कि श्रीनिवास रामानुजन कौन थे, गणित क्षेत्र में उनका योगदान क्या है।

राष्ट्रीय गणित दिवस का इतिहास : History of National Mathematics Day

26 फरवरी 2012 को भारत के 14वें और पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने मद्रास विश्वविद्यालय में भारतीय गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन 125 वीं जयंती (22 दिसंबर 1887- 26 अप्रैल 1920) समारोह में यह घोषित किया है कि 22 दिसंबर को राष्ट्रीय गणित दिवस मनाया जाएगा। इसी अवसर पर मनमोहन सिंह ने यह भी घोषित किया है कि 2012 को राष्ट्रीय गणित वर्ष के रूप में मनाया जायेगा। 2012 से हर वर्ष 22 दिसंबर को स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी में शैक्षिक कार्यक्रमों के साथ  राष्ट्रीय गणित दिवस मनाया जा रहा है। आंध्र प्रदेश के कुप्पम, चित्तूर में 2017 को रामानुजन मठ पार्क खुलने से इस दिन का महत्त्व और भी बढ़ गया है।

राष्ट्रीय गणित दिवस का महत्व : Significance of National Mathematics Day

हर किसी के जीवन में गणित का ज्ञान होना जरूरी है। मानव जीवन के विकास में गणित का ज्ञान महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। राष्ट्रीय गणित दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य है कि लोगों को गणित के प्रति जागरूक करना। श्रीनिवास रामानुजन ने गणित को आसान बनाने और लोगों में इसकी लोकप्रियता बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण योगदान निभाया है इसलिए हर साल रामानुजन जयंती दिसंबर 22 को गणित दिवस के रूप में मनाते हैं।

कैसे मनाया जाता है राष्ट्रीय गणित दिवस : National Mathematics Day Celebrations

भारत के राज्य के स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालयों में गणित दिवस मनाया जाता है। विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में नेशनल मैथमेटिक्स डे मनाते है। गणित के प्रति लोगों में रुचि और ज्ञान बढ़ाने के लिए भारत और यूनिस्को ने मिलकर काम किया है। सभी स्कूल और कॉलेजों तथा विश्वविद्यालयों में गणित दिवस पर वर्कशॉप का आयोजन और विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है जैसे गणित दिवस पर भाषण प्रतियोगिता (National Mathematics Day Speech), गणित दिवस पर निबंध प्रतियोगिता (National Mathematics Day Essay Competition), गणित दिवस पर क्विज (Quiz on National Mathematics Day), गणित दिवस पर सेमिनार (Seminar on National Mathematics Day), गणित दिवस पर चित्र लेखन (Drawing Competition on National Mathematics Day) आदि का आयोजन होता है। गणित दिवस समारोह के इन प्रतियोगिताओं में भाग लेने वालों को गणित दिवस पर सर्टिफिकेट (National Mathematics Day Certificate) भी दिए जाते है। शैक्षणिक संस्थाओं के सभी अध्यापक और छात्र गणित दिवस में भाग लेते है, विशेषकर इस दिन विख्यात गणितज्ञ सर श्रीनिवास रामानुजन को याद किया जाता है। आइए राष्ट्रीय गणित दिवस पर जानते हैं श्रीनिवास रामानुजन के बारे में।

कौन है श्रीनिवास रामानुजन: रामानुजन के बारे में - Srinivasa Ramanujan Biography 

श्रीनिवास रामानुजन की जीवनी और गणित में उनका योगदान : तमिलनाडु के एक ब्राम्हण परिवार में श्रीनिवास रामानुजन का जन्म 22 दिसंबर 1887 को हुआ था और उनका निधन कुंभनम में 26 अप्रैल 1920 को 32 साल के कम उम्र में हुआ था। सिर्फ 12 साल के उम्र में ही श्रीनिवास रामानुजन ने ट्रिग्नोमेट्री (Trigonometry) में ज्ञान प्राप्त किया था। 15 साल के उम्र तक एप्लाइड मैथ (Applied Mathematics) में जॉर्ज शोब्रिज कैर के सिनोप्सिस ऑफ एलिमेंटरी रिजल्ट (Synopsis of Elementary Results) की एक प्रति प्राप्त की थी। ट्रिग्‍नीटी कॉलेज, क्रैम्‍ब्र‍िज में फेलोशिप पाने वाले पहले भारतीय के रूप में उन्‍हें जाना जाता है। इसके अलावा मैथेमेटिक्स अनालिसिस (Mathematical analysis), नंबर थ्‍योरी (Number theory), इंफिनिटी सीरीज (Infinite Series) और कंटीन्‍यूड फ्रैक्‍शन (Continued fraction) भी रामानुजन की ही देन हैं। श्रीनिवास रामानुजन को 'man who knew infinity'  माना जाता है। गणित में उनके योगदान को याद करते हुए हर वर्ष 22 दिसंबर को राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाया जाता है। 2015 में श्रीनिवास रामानुजन की जीवनी पर आधारित फिल्म ‘द मैन हू न्यू इनफिनिटी (The Man Who Knew Infinity)’ रिलीज हुई थी। 

FAQ;

1. राष्ट्रीय गणित दिवस कब मनाया जाता है? when is mathematics day celebrated in india? 

राष्ट्रीय गणित दिवस प्रत्येक वर्ष 22 दिसंबर को मनाया जाता है।

2. राष्ट्रीय गणित दिवस किसकी याद में मनाया जाता है?

राष्ट्रीय गणित दिवस सुविख्यात महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन जी के याद में उनके जन्मदिन पर मनाया जाता है।

3. गणित दिवस कब घोषित किया गया?

26 फरवरी 2012 को भारत के 14वें और पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने श्रीनिवास रामानुजन 125वें जयंती को राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाने की घोषणा किया। श्रीनिवास रामानुजन का जन्म 22 दिसंबर को राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाते हैं। (22 December Ramanujan Birth Anniversary celebrated as National Mathematics day in India).

4. 22 दिसंबर को कौनसा दिन मनाया जाता है?

प्रत्येक वर्ष 22 दिसंबर को भारत में राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाया जाता है। श्रीनिवास रामानुजन का जन्म 22 दिसंबर 1887 को तमिलनाडु में हुआ था। गणित में उनके योगदान के याद करते हुआ 2012 से राष्ट्रीय स्तर पर गणित दिवस मनाने की घोषणा की गई।

5. अंतर्राष्ट्रीय गणित दिवस कब है? International Day of Mathematics 2023?

अंतर्राष्ट्रीय गणित दिवस हर साल 14 मार्च को मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय गणित दिवस Tuesday, 14 March, 2023 को है इसे Pi Day के रूप में भी जाना जाता है।

ये भी पढ़ें;

दिसंबर 22 राष्ट्रीय गणित दिवस 2022 : National Mathematics Day Quiz

✓ World Hindi Day 2023: 10 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है विश्व हिंदी दिवस?

National Mathematics Day History and Significance, Why we celebrate National Mathematics Day, When we celebrate National Mathematics Day, Srinivasa Ramanujan Birth Anniversary, Ramanujan Birthday, 22 December National Math's Day, Mathematics Day 2022, World Mathematics Day, International Mathematics Day, Pi Day, Srinivasa Ramanujan Biography in Hindi, National Mathematics Day in India, National Mathematics Day Speech, Essay On National Mathematics Day 2022, National Mathematics Day Celebrations...

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने