Type Here to Get Search Results !

World Hindi Day 2022: 10 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है विश्व हिंदी दिवस?

World Hindi Day: 10 जनवरी को होता है विश्व हिंदी दिवस का आयोजन, फिर 14 सितंबर को क्यों मनाया जाता है यह दिन

विश्व हिन्दी दिवस (World Hindi Day) हर साल 10 जनवरी को मनाया जाता है। हिंदी दुनिया की व्यापक रूप से बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है। भाषाई विविधता के रूप में अंग्रेजी, मंदारिन और स्पेनिश के बाद, हिंदी दुनिया में चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। हिंदी वैदिक संस्कृत के प्रारंभिक रूप की प्रत्यक्ष वंशज भी है।

आज कल की पीढ़ी अंग्रेजी भाषा को ज्यादा और हिंदी भाषा को कम महत्व देती है। हिंदी की अनदेखी को रोकने के लिए हर साल देशभर में हिंदी दिवस मनाया जाता है। हिंदी भारत की विस्तृत रूप से बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है और इसका सत्कार करने के लिए इसे एक दिन समर्पित किया गया है जिसे हिंदी दिवस (Hindi Day) के नाम से जाना जाता है। बोहर राजेंद्र सिम्हा और अन्य लोगों के प्रयासों के कारण, 1949 में भारत की संविधान सभा द्वारा हिंदी को भारत गणराज्य की दो आधिकारिक भाषाओं में से एक के रूप में अपनाया गया था। जिसकी वजह से प्रत्येक वर्ष बोहर राजेंद्र सिम्हा के जन्मदिन के अवसर पर हिंदी दिवस मनाने का ऐलान किया गया।

ये भी पढ़ें; हिंदी भाषा की विश्वव्यापकता

विश्व हिंदी दिवस क्या है? 1975 में आयोजित प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन की वर्षगांठ को चिह्नित करने के लिए, विश्व हिंदी दिवस हर साल 10 जनवरी को मनाया जाता है। पहले विश्व हिंदी सम्मेलन का उद्घाटन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने किया था। 1975 से विभिन्न देशों जैसे मॉरीशस, यूनाइटेड त्रिनिदाद, किंगडम और टोबैगो, संयुक्त राज्य अमेरिका ने विश्व हिंदी सम्मेलन का आयोजन किया है। 10 जनवरी 2006 को पहली बार पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह द्वारा विश्व हिंदी दिवस मनाया गया था और जब से इसे वैश्विक भाषा के रूप में प्रचारित करने के लिए हर साल 10 जनवरी को विशेष दिवस (World Hindi Day) मनाया जाता है।

राष्ट्रीय हिंदी दिवस (सितंबर-14) विश्व हिंदी दिवस (जनवरी-10) में क्या अंतर है? अंग्रेजी और मंदारिन के बाद हिंदी दुनिया की विस्तृत रूप से बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है। भाषाई विविधता के रूप में अंग्रेजी, मंदारिन और स्पेनिश के बाद, हिंदी दुनिया में चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। हिंदी वैदिक संस्कृत के प्रारंभिक रूप की प्रत्यक्ष वंशज भी है।

हिंदी दिवस 14-सितंबर को हर साल मनाया जाता है, जो हिंदी को आधिकारिक भाषा के रूप में ऐलान करता है। इस बीच, विश्व हिंदी सम्मेलन 10-जनवरी को मनाया जाता है जो हिंदी भाषा पर एक शब्द सम्मेलन है।

ये भी पढ़ें; लोकतंत्र, मीडिया और समकाल

World Hindi Day 2022 | विश्व हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है। विश्व हिंदी दिवस से जुड़ी 10 महत्त्वपूर्ण बातें 👇

FAQ;

1. 14 सितम्बर को ही हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है?

ज. 14 सितंबर 1949 को भारत की संविधान सभा द्वारा हिंदी को राजभाषा के रूप में दर्जा दिया गया था। हिंदी के महत्व को बताने के लिए “राष्ट्रभाषा प्रचार समिति” द्वारा प्रति वर्ष  14 सितंबर को हिंदी राजभाषा दिवस के रूप में मनाने का अनुरोध किया है।

2. विश्व हिंदी दिवस कब है.?

ज. 10 जनवरी 2006 को पहली बार पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह द्वारा विश्व हिंदी दिवस मनाया गया था और जब से इसे वैश्विक भाषा के रूप में प्रचारित करने के लिए हर साल 10 जनवरी को विशेष दिवस (World Hindi Day) मनाया जाता है।

3. पहले विश्व हिंदी सम्मेलन का उद्घाटन किसने किया था.?

ज. पहले विश्व हिंदी सम्मेलन का उद्घाटन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने किया था। 1975 से विभिन्न देशों जैसे मॉरीशस, यूनाइटेड त्रिनिदाद, किंगडम और टोबैगो, संयुक्त राज्य अमेरिका ने विश्व हिंदी सम्मेलन का आयोजन किया है।

4. प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन कब मनाया गया.?

ज. प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन 10 जनवरी, 1975 को महाराष्ट्र के नागपुर में मनाया गया था। इस सम्मेलन में तीस देशों से 122 प्रतिनिधि शामिल हुए थे। 2006 के बाद हर वर्ष 10 जनवरी को पूरी दुनियां में विश्व हिंदी दिवस के रूप में मनाए जाने लगा।

5. विश्व हिंदी दिवस मनाने की घोषणा कब हुई थी.?

ज. 10 जनवरी 2006 को पहली बार पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह द्वारा विश्व हिंदी दिवस मनाया गया था। 2006 से हर साल विश्व हिंदी दिवस मनाने की घोषणा की थी।

ये भी पढ़ें; मातृभाषा का योगदान

आज भारत के अलावा नेपाल, पाकिस्तान, बांग्लादेश, फ़िजी, कत्तर, साउदी अरब गणराज्य, श्रीलंका, कुवैत, ओमान, जर्मनी, जापान, इंग्लैंड, अमेरिका, मॉरिशस, ऑस्ट्रेलिया आदि देशों में भी हिंदी की मांग बढ़ती जा रही है। विदेशों में खूब रचनाएं लिखी जा रही है। हिंदी की मांग विश्वभर में बढ़ती जा रही इसीलिए आज हिंदी सिर्फ राष्ट्र भाषा के रूप में न रहकर विश्व भाषा बन गई हैं। विश्व भर में आज हिंदी कई विश्वविद्यालयों में पढ़ाई जा रही है। बैंक, मीडिया, फिल्म उद्योगों आदि क्षेत्रों में हिंदी की मांग बढ़ती जा रही है। आज हिंदी कई लोगों की जीविका बन चुकी है। हिंदी में नए-नए रोजगार आने लगे हैं। हिंदी में अपना भविष्य बनाने वालों के लिए www.rajbasha.nic.in, www.ildc.gov.in, www.bhashaindia.com, www.ssc.nic.in, www.ibps.in, www.kshindia.org, www.hindinideshalaya.nic.in, www.parliamentofindia.nic.in आदि वेबसाइट सेवा में समर्पित है। सारा विश्व हिंदी का महत्त्व जान चुका है इसलिए विश्व हिन्दी दिवस (World Hindi Day) हर साल 10 जनवरी को मनाया जाता है। इस तरह आज हिंदी अंतर्रष्ट्रीय स्तर पर शोभित है।

ये भी पढ़ें; 

* पत्रकारिता : चुनौतियां और दायित्व

* भारतेंदु का भाषिक अवदान

* National Youth Day 2022; राष्ट्रीय युवा दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?