Type Here to Get Search Results !

शब्दकोश (कविता) - प्रीति मौर्य


शब्दकोश

अक्षरार्ध्दक्षर से शब्द बने
शब्दो से बने वाक्य
शब्द सही जगह हो तो सार्थक
नहीं तो बने निरर्थक
तो तु बना खुद को सार्थक
पहुंच जहां तुझको जाना है
मै तो हूं शब्दों का भण्डार
फिर भी तु पहुंचता
अपने लक्ष्य तक
नहीं भटकता तु
सारे पन्नों पर
तु खुद में क्रमबध्दता ला
ना भटक खुद में तु
अर्थों का सही संयोजन कर
पहुंच जा अपनी मंजिल को
पूरी गम्भीरता व शान्ति के साथ।

                                     प्रीति मौर्य
B.A.(Hons) Arts (3rd year)
Banaras Hindu University
Uttarpradesh


ये भी पढ़े;