Type Here to Get Search Results !

जिंदगी एक सफर है - नीरू सिंह


जिंदगी एक सफर है

इस सफर में कई जाने-अनजाने मिलेंगे

जो तुमसे कुछ सीख जाएंगें कुछ सिखा जाएंगें 

कुछ बुरा कुछ अच्छा भी,यही तो तजुर्बा कहलाएगा

सीखना है क्या, जो तुमने तय किया तो ठोकर कम खाओगे

सब सीखना जरूरी नहीं कुछ छोड़ देना भी जरूरी है!

जिंदगी एक सफर है.....

रूठने वाले ज्यादा मिलेंगे मनाने वाले कम

गिराने वाले बहुत मिलेंगे थामने वाला कम

 खुद से जो खड़े हो गए तो गिराए कौन

 खुद को जो मना लिया तो रुलाए कौन

जिंदगी एक सफर है

नीरू सिंह
हिंदी शिक्षिका,
माउंट लीटरा जी स्कूल,
पश्चिम बंगाल
Zindagi Ek Safar Hain : नीरू सिंह : कविता : जिंदगी एक सफर है👇


ये भी पढ़े;