Human Rights Day 2023 : क्यों मनाया जाता है विश्व मानवाधिकार दिवस जानिए इतिहास और महत्व

World Human Rights Day 2023 : History, Significance, Theme and Quotes

Human Rights Day 2023 : क्यों मनाया जाता है विश्व मानवाधिकार दिवस जानिए इतिहास और महत्व

International Human Rights Day 2023 : प्रति वर्ष 10 दिसंबर को विश्व मानवाधिकार दिवस (Human Rights Day) मनाया जाता है। लोगों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए मानवाधिकार दिवस मनाया जाता है।

मानवाधिकार दिवस का इतिहास:

संयुक्त राष्ट्र ने सन् 1950 में  विश्व मानवाधिकार दिवस मनाने की घोषणा किया। 28 सितंबर 1993 से भारत में  मानवाधिकार कानून अमल में लाया गया और 12 अक्टूबर 1993 राष्ट्रीय मानव आयोग का गठन किया गया। लेकिन 10 दिसंबर 1948 को संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा घोषणा पत्र को मान्यता दिए जाने पर मानवाधिकार दिवस को 10 दिसंबर के दिन मनाने के लिए निश्चित किया गया।

इस धरती पर सभी लोगों के अधिकार समान है। रंग, रूप, भाषा, लिंग, धर्म और नस्ल या अन्य विचार पर कोई भेदभाव न हो। किसी की संपत्ति या राजनीतिक आदि बातों के आधार पर मानवाधिकार अलग अलग नहीं हो सकते। इसलिए लोगों में अपने अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिए यह दिवस मनाया जाता है।

भारत में मानवाधिकार :

भारत देश में देखा जाए तो आज भी लोगों को अपने अधिकारों के प्रति जागरूकता नहीं है। हर एक नागरिक के अपने अधिकार होते है। आज भी भारत में कई ऐसे गांव है जहां मानवाधिकार का हनन होना एक मामूली बात रही है। शहरों में भी यह देखने को मिलता है, जिनको मानवाधिकारों के बारे में जानकारी है वे लोग इन अधिकारों का गलत फायदा उठाते रहते हैं। मानवाधिकार दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य यही है कि सभी को एक जैसा अधिकार मतलब समानता का अधिकार मिले।

मानवाधिकार दिवस को लेकर संयुक्त राष्ट्र संघ ने हर साल एक नया थीम तय करती है। यह थीम संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा घोषित किया जाता है। वर्ष 2021 में मानवाधिकार दिवस का थीम 'असमानताओं को कम करना, मानवाधिकारों को आगे बढ़ाना।" 2021 Human Rights Day Theme “All human beings are born free and equal in dignity and rights.”

आइए जानते हैं अब वर्ष 2022 में क्या थीम रखी गई हैं:

मानव अधिकार दिवस 2022 की थीम (Human Rights Day Theme 2022) : इस साल मानवाधिकार दिवस 2022 की थीम 'गरिमा, स्वतंत्रता और सभी के लिए न्याय' Human Rights Day 2022 Theme "Dignity, Freedom, and Justice for All" रखी गई है।

आइए जानते हैं अब वर्ष 2023 में क्या है : 

जानें क्या है मानवाधिकार

आसान भाषा में कहें तो मानवाधिकार का आशय ऐसे अधिकारों से है जो रंग, रूप, जाति, भाषा, धर्म, लिंग और राष्ट्रीयता या किसी अन्य राजनीतिक और संपत्ति आधार पर भेदभाव किए बिना सभी को समानता प्राप्त होते हैं।

मानवाधिकारों में मुख्यतः जीवन जीने का अधिकार, स्वतंत्रता का अधिकार। गुलामी और यातना से मुक्ति पाने का अधिकार। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार तथा शिक्षा पाने का अधिकार आदि शामिल हैं।

मानवाधिकारों के संबंध में नेल्सन मंडेला (Nelson Mandela) ने कहा था, ‘लोगों को उनके मानवाधिकारों से वंचित करना उनकी मानवता को चुनौती देना है (To deny people their human rights is to challenge their very humanity)"

विश्व मानवाधिकार दिवस पर कुछ अनमोल विचार : मानवाधिकार दिवस पर अनमोल वचन 

World Human Rights Day Quotes in Hindi 2023 : Dr. B. R. Ambedkar Quotes in Hindi - बाबा साहेब आंबेडकर के अनमोल सुविचार 


International Human Rights Day Nelson Mandela Quotes in Hindi : नेलसन मंडेला के अनमोल विचार 

Human Rights Day Quotes in Hindi : Mahatma Gandhi Quotes in Hindi - महात्मा गांधी के अनमोल कथन 

ये भी पढ़ें; World Consumer Rights Day: क्यों मनाया जाता है विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस 2023

Tags: विश्व मानवाधिकार दिवस 2023, मानवाधिकार, अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस 2023, world human rights day 2023, international human rights day 2023, human rights day 2023, human rights day theme 2023, human rights day history and significance, human rights day theme 2023, human rights day quotes in hindi, human rights day in India, human rights day in Hindi...

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने