Type Here to Get Search Results !

Insurance Plans : चिंताओं से बचने के लिए जरूरी हैं ये बीमा पॉलिसियां

Insurance Plans : चिंताओं से बचने के लिए जरूरी हैं ये बीमा पॉलिसियां!

 

  हमें नहीं पता कि भविष्य में कब क्या होगा। अतीत में हुई घटनाओं के आधार पर हाल ही में हुए परिस्थितियों ध्यान देतेे  हुुए भविष्य में फिर से ऐसी स्थितियों से कैसे निपटना है, यह सीखना चाहिए और सावधानी रखना चाहिए। बीमारियाँ, दुर्घटनाएँ, प्राकृतिक आपदाएँ, अवांछित परिस्थितियाँ .. बिना किसी चेतावनी के आती हैं। इस विषय को हमें पिछले दो वर्षों में अपने अनुभव से अवगत कराया है। ऐसी अप्रत्याशित परिस्थितियां हमें मानसिक और आर्थिक रूप से तबाह कर सकती हैं। कुछ दूरदर्शिता और योजना के साथ इनसे आर्थिक रूप से निपटा जा सकता है। बीमा पॉलिसियां ​​इसमें मदद करती हैं। बीमा वित्तीय स्वास्थ्य की नींव की तरह है। इसकी आवश्यकता तब स्पष्ट होती है जब भविष्य में कोई अप्रत्याशित घटना घटित होती है। बीमा के महत्व के बावजूद, कुछ लोग अन्य कारणों से बीमा खरीदने की उपेक्षा करते रहते हैं। आइए अब जानें कि इस संदर्भ में बीमा किन परिस्थितियों में वित्तीय चिंताओं को कम कर सकता है।

 परिवार की चिंता न करें : अप्रत्याशित परिस्थितियों के कारण परिवार के आश्रित की मृत्यु के मामले में .. टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी (Insurance policy) परिवार को आर्थिक तंगी से सुरक्षा प्रदान करती है। जो लोग अपने प्रियजनों के भविष्य को लेकर चिंतित हैं, उन्हें टर्म पॉलिसी (Term Insurance Policy) जरूर लेनी चाहिए।

अस्पताल के खर्च के मामले में : चिकित्सा आपात स्थिति में, हर कोई बेहतर चिकित्सा सेवाएं चाहता है। हालाँकि, इन दोनों में यह बहुत महंगा हो गया है। पर्याप्त कवरेज के साथ व्यापक स्वास्थ्य बीमा योजना (Comprehensive health insurance policy) .. आपात स्थिति में आपको और आपके परिवार को गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा देखभाल प्रदान करने में मदद करती है। उस दौरान आप पैसों की चिंता किए बिना अपने परिवार के सदस्यों पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं

क्रिटिकल इलनेस : लाइफस्टाइल से जुड़ी बीमारियां इन दिनों आम हो गई हैं। नतीजतन, कई लोग हैं जो कम उम्र में ही हृदय रोग और कैंसर जैसी जटिल बीमारियों से पीड़ित हैं। इन्हें दीर्घकालिक उपचार की आवश्यकता होती है। साथ ही काफी पैसा भी खर्च होता है। इन लागतों को अन्यथा बचत और वर्षों में किए गए निवेश से ऑफसेट किया जाएगा, जो परिवार के वित्तीय स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाएगा। ऐसी स्थितियों से निपटने के लिए आप सामान्य स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी में क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस पॉलिसी (critical illness insurance policy) बेहतर हैं और अतिरिक्त सुरक्षा प्राप्त कर सकते हैं। ये पॉलिसी कम प्रीमियम मे  ही पॉलिसी देती हैं। बीमा कंपनी द्वारा सूचीबद्ध एक गंभीर बीमारी की स्थिति में, बीमा कंपनी पॉलिसीधारक को पूरी गारंटी का भुगतान करेगी, चाहे लागत कुछ भी हो।

वृद्धावस्था में : वृद्धावस्था में बीमार होने की संभावना अधिक होती है। अस्पताल का खर्चा और दवाएं बहुत महंगी हैं। अगर आप अपनी या अपने माता-पिता की उम्र को ध्यान में रखते हुए हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी (Health Insurance policy) लेते हैं.. खर्चों की चिंता करने की जरूरत नहीं है. प्रत्येक बच्चे की जिम्मेदारी है कि वह अपने माता-पिता को स्वस्थ और शांतिपूर्ण जीवन प्रदान करे। जितनी जल्दी हो सके पॉलिसी लेने की सलाह दी जाती है क्योंकि उम्र के आधार पर प्रीमियम भी बढ़ेगा।

आपदाओं और अप्रत्याशित घटनाओं में: बढ़ती प्राकृतिक आपदाएं एक अनुस्मारक हैं कि न केवल मानव स्वास्थ्य बल्कि घरों और व्यवसायों को भी बीमा कवरेज की आवश्यकता है। इसलिए, किसी घर या व्यवसाय का बीमा अप्रत्याशित परिस्थितियों के कारण संपत्ति के नुकसान की स्थिति में बीमा कवरेज प्रदान करता है।

वाहन : भारत में थर्ड पार्टी मोटर इंश्योरेंस (Third Party Motor Insurance) लेना अनिवार्य है। हालांकि यह आपके वाहन को हुए नुकसान को कवर नहीं करता है। तो एक व्यापक मोटर बीमा पॉलिसी के साथ एक व्यापक ऐड-ऑन लेने से आपके वाहन को पूर्ण सुरक्षा मिलेगी।

इस प्रकार बीमा पॉलिसी (Bima Policies) के साथ जोखिम को कवर करने से वित्तीय चिंताओं से बचा जा सकता है। बीमा और निवेश को मिलाने वाली पॉलिसियों से दूर रहना ही बेहतर है। इनमें से बीमा कवरेज कम है और आय कम है।

ये भी पढ़े;

* Financial Planning : थर्ड वेव का फियर, क्या आपके पास है कोई फाइनेंशियल प्लान?

* Get Pre Approved Personal Personal Loan in YONO : SBI में खाता होना अब अधिक फायदेमंद है

* Cryptocurrency Apps : Users Beware तुरंत डिलीट करें ये 8 ऐप्स