Type Here to Get Search Results !

रोचिका शर्मा के कहानी संग्रह जो रंग दे वो रंगरेज को मिला “जगदीश नारायण खरे स्मृति सम्मान”

रोचिका अरुण शर्मा के प्रथम कहानी संग्रह जो रंग दे वो रंगरेज को मिला “जगदीश नारायण खरे स्मृति सम्मान”


  गया प्रसाद खरे स्मृति साहित्य, कला एवं खेल संवर्द्धन मंच के तत्वावधान में संस्थित शन्ति गया स्मृति सम्मान वर्ष २०२० एवं २०२१ के लिए २६ दिसंबर अपरान्ह नगर निगम सभागार कुषा भाऊ ठाकरे भवन, भोपाल में एक गरिमामयी सम्मान  समारोह आयोजित किया गया | कार्यक्रम अध्यक्ष वरिष्ठ साहित्यकार श्रीमती  कांति शुक्ला, मुख्य अतिथि हिंदी भवन के निदेशक श्री जवाहर कर्नावट, कार्यकारी अध्यक्ष श्रीमती कांता रॉय, संस्था सचिव श्री अरुण अर्णव खरे, विशिष्ट अतिथि वरिष्ठ कथाकार श्रीमती सुषमा मुनीन्द्र एवं कवि डॉ संजीव कुमार  समेत भोपाल के प्रबुद्ध  साहित्यकार  वहाँ मौजूद थे |  कार्यक्रम का सफल संचालन अन्तराष्ट्रीय कमेंट्रेटर दामोदर आर्य एवं प्रभात गोस्वामी ने किया।

 वर्ष २०२० हतु चेन्नई निवासी रोचिका अरुण शर्मा के प्रथम कहानी संग्रह “जो रंग दे वो रंगरेज” को  जगदीश नारायण खरे स्मृति  सम्मान  हेतु चयन किया गया |  उन्हें इस कार्यक्रम में अंग वस्त्र, स्मृति चिन्ह, प्रशस्ति पत्र  एवं ११०० रुपये की नकद राशि से सम्मानित  किया गया।

इसी वर्ष  रोचिका अरुण शर्मा की कहानी “स्टेडियम” हिंदी दिवस पर डेली हिंदी मिलाप द्वारा सर्वश्रेष्ठ कहानी के रूप में पुरस्कृत हुई | हाल ही में साहित्य समर्था पत्रिका द्वारा अखिल भारतीय  कहानी प्रतियोगिता  में भी इनकी कहानी “उडीक” को श्रेष्ठ कहानी पुरस्कार घोषित हुआ है।

ये भी पढ़े;

* कुछ याद उन्हें भी कर लो, जो लौट के घर न आये

* बाल दिवस पर विशेष : बाल कहानी और बाल कविता

* मोहित ने समझी भूल : रोचिका अरुण शर्मा